वाराणसी की सबसे बदनाम गलियों में मशहूर शिवदासपुर इन दिनों काफी चर्चा में है। चर्चा इसलिए क्योंकि गांव के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपने गोद लेने वाले गांव में शिवदासपुर का भी नाम दर्ज कराने का आग्रह किया है। वाराणसी कमिश्नरी से करीब 4 किलोमीटर की दूरी पर मंडुआडीह थाना क्षेत्र में बसा यह गांव एक समय देह व्यापार को लेकर काफी बदनाम हुआ करता था। लेकिन समय के साथ साथ यहां का माहौल भी बदलाव और लोगों में जागरूकता है। इसी बदलाव को लेकर ग्रामीणों की मांग है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चलें जिसे लेकर ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी और कहा कि वह उनके गांव को गोद लेकर विकासशील भारत के साथ ले चलें।

वाराणसी के मंडुवाडीह थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले शिवदासपुर का नाम शायद ही ऐसा कोई हो जो ना जानता हो। ऐसा इसलिए क्योंकि वाराणसी जिले में कभी बदनाम गलियों के नाम से जाने जाने वाला शिवदासपुर गांव था। लेकिन बदलते समाज के साथ चलते – चलते यह पूरा गांव भी अब बदल गया है। जिस गांव के नाम लेने से लोग कतराते थे आज वहां लोग अपने परिवार के साथ रहते हैं । इसी बदनाम गांव को एक नई पहचान दिलाने के लिए ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है और प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान शिवदासपुर को गोद लेने की आग्रह की है। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार के द्वारा बहुत सारी योजना है जो गांव में नहीं आ पाती है और गांव को नई पहचान दिलाने के लिए हम सभी ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र के माध्यम से आग्रह किया है कि वह इस गांव को गोद ले ताकि गांव के लोगों को सारी सुख सुविधा मिल सके।